आँक्सीकरण अंक ज्ञात करने के नियम

आँक्सीकरण अंक की परिभाषा : (Definition of oxidation number)

किसी परमाणु का आँक्सीकरण अंक उस पर बचा वह आवेश होता है जब उस यौगिक के समस्त परमाणुओ को उनके आयनंस के रूप मे पृथक कर दिया जायेँ।

यौगिक की ऑक्सीकरण संख्या: (Oxidation number of compound)

एक योगिक में से किसी एक तत्व का ऑक्सीकरण अंक ज्ञात करने के लिए एक स्टैण्डर्ड तरीका अपनाया जाता है। जो कुछ ऐसे है: हम इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझेंगे।

उदाहरण: योगिक K4[Ni(CN)4] में Ni की ऑक्सीकरण संख्या क्या होगी?

  • Step-1: {सूत्र है: 4( x ) + ( y ) + 4( z ) = Zero } यहाँ कोस्टक में लिखे गए X, Y, Z क्रमश: K, Ni, और (CN) की ऑक्सीकरण संख्या के बारे में बताते है। तथा बाहर लिखी संख्या 4 और 4 क्रमश: K और (CN) के परमाणुओं की संख्या है जो हमें दिए गए योगिक में दिख रही है।
  • Step-2: माना Ni कि ऑक्सीकरण संख्या Y है, जिसे हमें निकालना है।
  • Step-3: यहाँ हमें K और (CN) की ऑक्सीकरण संख्या के बारे में पता होना चाहिए।
  • Step-4: K की ऑक्सीकरण संख्या = (+1)
  • Step-5: (CN) की ऑक्सीकरण संख्या = (-1)
  • Step-6: मान रखने पर {4(+1) + (y) + 4(-1) = Zero}
  • Step-7: यहाँ से Y का मान 0(zero) प्राप्त होगा, जो इस योगिक में Ni की ऑक्सीकरण अंक है।

ध्यान रहे कि एक ही तत्त्व का, प्रत्येक योगिक की सरंचना के हिसाब से अलग-अलग ऑक्सीकरण अंक हो सकता है। जैसे [H2O2] में O2 का ऑक्सीकरण अंक (-1) है। आप इसे Vision Of Wisdom पर पढ़ रहे है।


ऑक्सीकरण अंक ज्ञात करने के कुछ नियम: (Rules for finding the oxidation number)

नियम-1- अणुओं मे उपस्थित परमाणुओ का आँक्सीकरण अंक शून्य होगा। उदाहरण:- P4 , S8 , O2 , H2 आदि मे उपस्थित परमाणु का आँक्सीकरण अंक शून्य होगा॥

नियम-2- उदासीन अणु मे सभी परमाणुओ का आँक्सीकरण अंक संयुक्त रूप से, शून्य होगा। उदाहरण:- H2SO4 , HCl , NaCl इत्यादि॥अणुओंनियम-2- उदासीन अणु मे सभी परमाणुओ का आँक्सीकरण अंक संयुक्त रूप से, शून्य होगा। उदाहरण:- H2SO4 , HCl , NaCl इत्यादि॥

नियम-3- क्षारीय धातुओ का आँक्सीकरण अंक +1 होता है। उदाहरण :-+1[Li, Na , K, Rb, Cs]

नियम-4- क्षारीय मृदा धातुओ का आँक्सीकरण अंक +2 होता है। उदाहरण:- +2=[Be, Mg, Ca, Sr, Br, ]

नियम-5- यौगिको मे आँक्सीजन का आँक्सीकरण अंक -2 होता है।

नियम -6- सामान्यतया यौगिको मे हाइड्रोजन का आँक्सीकरण अंक +1 होता है।

नियम-7- साधारण आयन का आँक्सीकरण अंक उस पर लगे आवेश के बराबर होता है। उदाहरण:- Mn7+ =+7

नियम-8- जटिल आयनो मे उपस्थित सभी परमाणुओ के आँक्सीकरण अंक का योग उस पर लगे आवेश के बराबर होता है। उदाहरण:- Mn3+O4- = -1

नियम-9- किसी परमाणु का आँक्सीकरण अंक n से लेकर (n – 8) तक हो सकता है। जहाँ n = उस परमाणु की वर्ग संख्या है। उदाहरण :- आँक्सीजन का आँक्सीकरण अंक +6 से -2 तक हो सकता है।

नियम -10- संकुल यौगिको मे अलग-अलग परमाणुओ का आँक्सीकरण अंक ज्ञात करने की अपेक्षा उस मे उपस्थित मूलको या अणुओ का आँक्सीकरण अंक याद रखना अधिक सुविधाजनक रहता है।

उदाहरण:-

  • [ -1 ] = [ F , Cl, Br , I , Cn, NCs , OH , CNS , NCO , CnO , NO2 , NO3, CH3COO , C5H5]
  • [ -2 ] = [ CO3 , SO4 , S2O3 , C2O4 , SO3 , S ]
  • [ -3 ] = [ Po4 , BO3 ]
  • [ 0 ] = [ NH3 , H2O , Py (पिरीमिडिन) , Co (कार्बोसिल) , No (नाईट्रोसिल) , NS , C6H6 (बेन्जीन) , PH3 (फाँस्फीन) , en ( एथिलिन डाईएमीन) ]
  • [ +1 ] = [ CH3 , NH4 ]

गुरु दक्षिणा: यहाँ लिखी जानकारी आपको कैसी लगी हमें कमेंट में बातएं, कृपया इसे शेयर करें।


आपके सुझाव आमंत्रित है। इस आर्टिकल से संबंधित किसी भी प्रकार का संशोधन, आप हमारे साथ साझा कर सकते हैं।

18 Comments

  1. Sir mere pass ag hai jisme chemistry Kam samj aati hai to aap chemistry samjane me Meri help Karo 8#*******2.

    1. Vikas, अभी हम इसके लिए प्लेटफार्म तैयार कर रहे है। इसमें समय लगेगा। हमारा उद्देश्य जटिलता को कम करके आसान भाषा में जानकारी प्रदान करता है। कृपया पर्सनल जानकारी कमेंट में न लिखे। उम्मीद है आप इसमें सकारात्मकता बनाए रखेंगे।

  2. Very very useful knowledge..
    I have never seen ever..Easy and understandable to read..
    I want these notes in pdf formate..If you can provide then it will be helpful for me..

    1. यह हमेशा यहीं रहने वाला है. आप जब-चाहें, जहाँ-चाहें इसका अध्यन कर सकते हैं.

  3. Kr2Cr2o7 में Cr की ऑक्सीकरणकरण संख्या क्या होगा sir

  4. Thanks sir for helping 🙏😁

  5. सर . ‘कुछ लिगेण्ड की आक्सीकरण संख्या बता देते तो अच्छा रहता ।

  6. Thank you for good teaching sir

  7. Bahut achha article h mere liye bahut useful h bahut sare topics samajh aa gate

  8. Nice hai but did not understand

Leave a Reply

error: